बदमाशों ने वाहन बुक कर चालक से की लूटपाट 

– वाहन लूटकर बदमाश फरार 
– गमछे से बांध दिया मुंह, तमंचा लगाकर फेंका नहर में चालक को फेंका 

लखनऊ। राजधानी के चिनहट थाना क्षेत्र स्थित पॉलीटेक्निक चौराहे पर सोमवार देर रात तीन लुटेरों ने वाहन बुक किया और थोड़ी दूर पहुंचे ही चालक से असलहे के बल पर लूटपाट की। बदमाश गमछे से मुंह बांधकर पहले जमकर पीटा फिर हाथ बांधकर नहर में फेंक वाहन लेकर भाग गए। चालक ने किसी तरह नहर से बाहर निकला और एक घंटे के संघर्ष के बाद उसकी जान बच सकी। पीड़ित ने डायल 100 पर सूचना दी। चिनहट पुलिस मौके पर पहुंची और पीड़ित को गाजीपुर थाना क्षेत्र के पॉलीटेक्निक पुलिस चौकी के पास छोड़कर चली गई।

जानकारी के मुताबिक , मामला पॉलीटेक्निक चौराहे का है। महिन्द्रा टीयूवी (वाहन संख्या यूपी 32 जीपी 0404) का चालक मोहसिन खान बहराइच से चारबाग तक सवारियां लाया था। चारबाग में सवारियां छोड़ने के बाद मोहसिन वाहन लेकर पॉलीटेक्निक चौराहे पर पहुंचा। तभी तीन युवकों ने उसे रोका और बहराइच तक चलने की बात कही। मोहसिन उन्हें लेकर चिनहट कोतवाली क्षेत्र स्थित इंदिरा नहर के पास पहुंचा था, तभी तीनों लुटेरों ने पीछे से उसका गला रस्सी से कस दिया।  मोहसिन ने बताया कि स्टेयरिंग पर पकड़ ढीली हुई और वाहन रुक गया। वाहन रुकते ही तीनों लुटेरे उस पर टूट पड़े। गमछे से मुंह बांधकर हाथ भी बांध दिया। जमकर पीटने के साथ उसके कमाई की पूरी धनराशि लूट ली और उसे इंदिरा नहर में फेंक दिया। मोहसिन को मरा समझकर तीनों लुटेरे उसका वाहन लेकर फरार हो गए।

See also  देवरिया कांड मामले को लेकर राष्ट्रपति से मिला सपा का प्रतिनिधि मंडल

मोहसिन ने बताया कि नहर में पांच मिनट रहा, लग रहा था कि अभी मौत आ जाएगी। हाथ बंधे होने के बावजूद किसी तरह खुद बाहर निकला। अंधेरा बहुत था, करीब तीन किलोमीटर स्थित एक ढाबे तक धीरे-धीरे पहुंचा। वहां लोगों ने हाथ खोले। इसे बाद डायल 100 को सूचित किया। इंस्पेक्टर चिनहट सचिन कुमार सिंह ने बताया कि घटना गाजीपुर थाना क्षेत्र की है, क्योंकि लूटपाट पॉलीटेक्निक चौराहे पर हुई है। उनसे जब यह पूछा गया कि चालक को इंदिरा नगर में फेंका गया और वहीं लूटपाट भी हुई तो वह गोलमोल जवाब देने लगे। फिलहाल पुलिस केस दर्ज कर मामले की विधिक कार्रवाई में जुटी है।