टाफी देने के बहाने सरपत के झुंड में बुला लिया, नशीला पदार्थ मिलाकर सुघां कर बोरे में भरने का किया प्रयास

भदोही। कोतवाली क्षेत्र के अस्ती गांव में गुरुवार की सुबह स्कूल जा रहे सात वर्षीय एलकेजी के  छात्र यश के अपहरण का प्रयास ग्रामीणों की सजगता के चलते असफल हो गया। आरोपित को  दौड़ा कर ग्रामीणों ने पकड़ने के बाद जमकर पीट दिया। सूचना पर पहुंचे यूपी-100 के जवानों ने  आरोपित को हिरासत में लिया और थाने लाई। पुलिस का कहना है कि आरोपित शराब के नशे  में था। अपरहण की बात गलत है। उधर, छात्र के अपहरण की जानकारी मिलते ही मौके पर कई गांवों के लोग एकत्रित हो गए।

कोतवाली क्षेत्र के अस्ती गांव निवासी राजू विश्वकर्मा का बेटा यश पिपरी स्थित एक निजी स्कूल में एलकेजी का छात्र है। प्रतिदिन की भांति गुरुवार की सुबह करीब आठ बजे वह स्कूल के लिए निकला। गांव स्थित चौरा माता मंदिर के आगे परपतों का झुंड है। आरोप है कि वहां सगड़ी पर प्लास्टिक, कचरा बीन रहे एक व्यक्ति ने छात्र को टाफी देने के बहाने सरपत के झुंड में बुला लिया और कपड़े में नशीला पदार्थ मिलाकर सुघांते हुए बोरे में भरने का प्रयास किया। जिस पर
वह रोने लगा। भदोही आ रहे कुछ लोगों ने छात्र के रोने की आवाज पर झाड़ी में जाकर देखा तो पैरों तले जमीन खिसक गई। जिसके बाद आरोपित छात्र को वहीं छोड़कर भाग खड़ा हुआ। छात्र के अपहरण की जानकारी होते ही आसपास के ग्रामीणों ने उसे दौड़ाकर खेतों में पकड़ लिया और जमकर पिटाई कर दी। सूचना पर पहुंचे यूपी-100 के जवानों ने आरोपित को हिरासत में लिया।

पुलिस को आरोपित बदरुद्दीन ने खुद को जलालपुर, भदोही का निवासी बताया, जबकि उसके पास से भदोही, पश्चिम बंगाल वाले पते के कई आधार कार्ड मिले। छात्र के अपहरण की जानकारी मिलते ही पूरेकिशुन, तुलसीचक, पिपरी, अस्ती, परसपुर, दुर्जनपुर आदि गांवों के लोग एकत्रित हो गए। इस बाबत शहर कोतवाल मनोज कुमार पांडेय ने बताया कि आरोपित ने शराब का सेवन किया था। अपहरण की बात को उन्होंने सिरे से नकार दिया। फिलहाल, आरोपित पुलिस हिरासत में है।

See also  नगर निगम के निरीक्षक पर रसोईया को प्रताड़ित करने का आरोप,मुकदमा दर्ज