मथुरा जेल गैंगवार के दो कुख्यात अपराधी मथुरा पुलिस ने दबोचे

मथुरा। बागपत जिला जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद प्रदेश भर में पुलिस अलर्ट है। ऐसे बदमाशों के चुनचुन कर जेल में ठूंसा जा रहा है जो गैंगवार में शामिल रहे हैं।
17 जनवरी 2015 को मथुरा जेल में हुए गैंगवार में शामिल रहे दो कुख्यात बदमाशों गोपाल उर्फ गणेश यादव पुत्र गोविन्द यादव निवासी सुभाष इंटर कॉलेज के पास अवागढ़ हाऊस कंपूघाट मथुरा तथा राकेश चौधरी पुत्र बीरी सिंह निवासी भूतिया पानी गांव थाना जमुनापार को पुलिस ने हथियारों के साथ गिरफ्तार किया है। दोनों शातिर हाथरस के राजेश टौंटा और मथुरा के मावी गैंगे के बीच मथुरा जेल में हुए गैंगवार में शामिल थे। इस घटना में एक बंदी की जेल में ही मौत हो गई थी, जबकि राजेश टोंटा को आगरा ले जाते समय राष्ट्रीय राजमार्ग पर फरह के पास बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर पुलिस हिरासत में मौत के घाट उतार दिया था। ये दोनों बदमाश इस समय जमानत पर चल रहे थे।
इनके पास से पुलिस ने एक पिस्टल 32 वोर और 5 कारतूस, एक तमंचा 315 वोर और 5 कारतूस तथा एक मोटरसाइकिल बरादम की है।

अभी बुझी नहीं मावी-टौँटा गैंगवार की आग
अभी राजेश टोंटा और ब्रजेश मावी गैंग के बीच चल रही दुश्मनी की आग बुझी नहीं है। इस गैंग के बीच एक और गैंगवार हो सकता है, इसका इनपुट पुलिस को मिल रहा था। इन दोनों गैंग के साथी अभी भी प्रदेश की कई जेलों में हैं। बागपत जेल गैंगवार के बाद यूपी पुलिस ने ऐसे सभी गैंग पर शिकंजा सकना शुरू कर दिया है जो गैंगवार की वारदात कर सकते हैं।

हाथरस में टौंटा गैंग के सदस्य की करने जा रहे थे हत्या
पकड़े गये दोनों शातिर बदमाश मावी गैंग से ताल्लुक रखते हैं और हाथरस में टौंटा गैंग के किसी सदस्य की हत्या करने जा रहे थे। पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली इकसे बाद घेराबंद की दोनों को स्वाट टीम और थाना हाइवे पुलिस ने टैकमेन सिटी नवादा के सामने से गिरफ्तार कर लिया।

राजेश टोंटा हत्याकांड में थे मुख्य आरोपी
2015 में राजेश टौंटा हत्याकांड में राकेश चौधरी और गोपाल यादव मुख्य आरोपी थे, इस समय दोनों जमानत पर चल रहे हैं। राजेश टौंटा की मथुरा जिला अस्पताल से आगरा इलाज के लिए ले जाते समय 17 जनवरी 2015 को रात के समय एनएच टू पर हत्या कर दी गई थी।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper