वाह री पुलिस! दी एनकाउंटर की धमकी

मेरठ। गाजियाबाद और मेरठ की नौचंदी थाना पुलिस ने एक घर में दबिश देकर जमकर उत्पात काटा। महिलाओं से बदतमीजी कर तोड़फोड़ की और बाद में एक युवक को छत से गिराकर उसके दोनों पैर तोड़ दिए। इतना ही नहीं आरोप है नौचंदी थाने के दरोगा ने हवाई फायरिंग कर दहशत भी फैलाई। पीड़ि़त पक्ष ने बुधवार को एसएसपी ऑफिस पहुंचकर आरोपित पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। एसपी क्राइम शिवराम यादव ने सीओ सिविल लाइन को मामले की जाच सौंपी तीन दिन में रिपोर्ट मागी है, जिसके आधार पर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।


नौचंदी थाना क्षेत्र के जैदी चौक निवासी अमीर अहमद पुत्र मोहम्मद इसहाक का कहना है थाना खोड़ा की खोड़ा कॉलोनी लोकप्रिय विहार में उनके साले रहते हैं और वहा उनका भी रहना-सहना है। आरोप है कि पुलिस ने स्कूटी से बरामद दस्तावेजों के आधार पर उसके बेटों असद और अरशद कि गलत नामजदगी कर दी। अमीर अहमद का आरोप है कि खोड़ा पुलिस ने घायलों को ही फर्जी मुठभेड़ दिखाकर गिरफ्तार दिखा दिया और साठगांठ करके फरार आरोपित आसिफ और आरिफ का नाम मुकदमे से निकाल दिया।
अमीर का आरोप है कि 7 जुलाई 2018 की रात 1-30 बजे गाजियाबाद पुलिस ने नौचंदी थाने के दरोगा भुरेन्द्र चौहान के साथ घर में दबिश दी। दरवाजा तोड़कर 20 पुलिसकर्मी अंदर घुस गए, जो शराब के नशे में थे।
पुलिस ने घर की महिलाओं के साथ अभद्रता की। आरोप है कि दारोगा भुरेन्द्र चैहान ने स्टे कॉपी को फाड़ते हुए उसके साथ मारपीट शुरु कर दी। विवेचक रामपाल छत पर चढ़ गया और जहा मेरा जहा उसका बेटा असद मौजूद था। विवेचक ने असद पर जान से मारने की नियत से फायर कर दिया। असद छत से गिर गया, जिससे उसके दोनों पैर टूट गए। इसके बाद पुलिस धमकी देते हुए चली गयी।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper