अंतरराष्ट्रीय महिला हॉकी प्लेयर ने ट्रेन के आगे आकर दी जान

हॉकी प्लेयर ने कथित रूप से ट्रेन के आगे आकर अपनी जान दे दी। हॉकी प्लेयर ज्योति गुप्ता सोनीपत जिले की रहने वाली थीं। उनकी बॉडी को स्थानीय लोगों ने रेलवे ट्रेक पर देखा। इसके बाद उन्होंने पुलिस को घटना की जानकारी दी।
ज्योति गुप्ता ने एशियाई खलों में देश का प्रतिनिधित्व किया है। उन्होंने राज्य और राष्ट्रीय स्तर के कई टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था। ज्योति के कोच ने बताया कि उन्हें अगले सप्ताह ट्रेनिंग कैंप के लिए बेंगलुरु जाना था।

पुलिस ने बताया कि ज्योति बुधवार को अपने घर से आई थी। वह घर पर कहकर आई थी कि वह महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी रोहतक जा रही है। उसे अपने सर्टिफिकेट में अपने नाम की स्पेलिंग ठीक करानी है।
ज्योति के परिजनों ने बताया कि उसने शाम को घर फोन किया था तो बताया था कि उसकी बस खराब हो गई है। वह जल्दी ही घर पहुंच जाएगी। हालांकि इसके बाद उसने कॉल का जवाब नहीं दिया। पुलिस ने बुधवार रात को ज्योति की बॉडी को रेवाड़ी रेलवे स्टेशन पर पाया। उसके पास उसका फोन भी पड़ा था जो बज रहा था।

इसके बाद पुलिस ने फोन उठाया और उसके परिजनों को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि जयपुर की ट्रेन के ड्राइवर ने बताया कि उसकी ट्रेन के सामने आने के बाद ज्योति की मौत हो गई। ज्योति के परिजन इसे आत्महत्या मानने से इनकार कर रहे हैं।

रेवाड़ी जीआरपी के एसएचओ के मुताबिक केस दर्ज कर लिया गया है। ज्योति की बॉडी को ज्योति के परिजनों को सौंप दिया गया है। पुलिस का कहना है कि जिस ट्रेन के सामने कूदकर ज्योति ने आत्महत्या की है उसके लोको पायलट से उनकी बात हो गई है।

जिससे ये साफ हो गया है कि ये आत्महत्या का मामला है, लेकिन आत्महत्या के पीछे क्या वजह है और ज्योति रेवाड़ी कैसे पहुंची ये पुलिस जांच के बाद सामने आएगा।

=>
loading...
E-Paper