क्षेत्र में तेंदुए की दहशत कायम, गांव के बाहर प्रतिबंधित पशुओं के मिले अवशेष

सीतापुर। क्षेत्र में तेंदुए की आमद लगातार बढ़ती जा रही है। रामपुरकलां के एक गांव से बाहर परती पड़ी ग्राम समाज की भूमि में करीब दर्जनभर प्रतिबंधित पशु के अवशेष पड़े मिले। गांव से बाहर अवशेष पड़े मिलने की सूचना मिलते ही क्षेत्रभर में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने मामले की जानकारी रामपुरकलां पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला दबाने के लिए आनन-फानन में एक किसान की बोरिंग में दफनवा दिया। ग्रामीणों के विरोध के बाद पुलिस ने पशु चिकित्साधिकारी को बुलवाकर अवशेष निकलवाए किंतु चिकित्साधिकारी ने भी अवशेष पुराने बताकर अपना पल्ला झाड़ लिया। वन विभाग समाचार लिखे जाने तक मौके पर नहीं पहुंच सका है। वन विभाग लगातार क्षेत्र में कांबिंग करने के साथ लोगों को असहाय होकर बचाव के लिए हिदायत दे रहा है। क्षेत्र में तेंदुए की मौजूदगी से लोगों में भारी दहशत है। सदरपुर थानाक्षेत्र में रात में बेनी माधवपुर, मुसैदाबाद व लक्ष्मणपुर के आसपास तेंदुआ लगातार देखा जा रहा है। बुधवार की सुबह रामपुरकलां थानाक्षेत्र के ग्राम पंचायत कोरार की कोरार व विश्रामसिंह पुरवा गांवों के बीच परती पड़ी ग्राम पंचायत की भूमि में करीब दर्जनभर गोवंशीय अवशेष पडत्रे दिखाई दिए। सूचना मिलते ही पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों को आशंका है कि तेंदुए ने अपनी भूख शांत करने के लिए छुट्टा घूम रहे इन प्रतिबिंधित पशुओं का शिकार कर अपना निवाला बनाया है। मामले की खबर क्षेत्र में फैलते ही हड़कंप मच गया और बड़ी संख्या में ग्रामीण मोके पर जा पहुंचे। भाजपा के आईटी सेल के विधानसभा महमूदाबाद अध्यक्ष सुधीर वर्मा ने मामले की जानकारी थानाध्यक्ष रामपुरकलां को दी। मौके पर पहुंचे रामपुरकलां थानाध्यक्ष रणवीर सिंह भदौरिया ने सुधीर वर्मा सहित अन्य ग्राामीणों को भला बुुरा कहा और आनन-फानन में बिना चिकित्सक व वन विभाग को सूचना दिए बगैर सभी अवशेषों को विश्रामपुरवा निवासी सुरेश के खेतमें दफनवा दिया। पुलिस की इस तानाशाहीपूर्ण गैर जिम्मेदाराना हरकत से लोगों में आक्रोश फैल गया। ग्रामीणों के बढ़ते आक्रोश की सूचना पर थानाध्यक्ष पुनः पशु चिकित्साधिकारी पहला डा. अबुल वफा को मोके पर बुलवाया। मामले में पर्दा डालने में जुटे थानाध्यक्ष ने पशु चिकित्साधिकारी को भी अपने अर्दब में पहले ही ले लिया था। इसलिए मौके पर पहुंचे पशु चिकित्साधिकारी ने खानापूर्ति के लिए ग्रामीणों के सामने एक-आध अवशेष बाहर निकलवाए और पुराने अवशेष होने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया। बताया जाता है मामला दबाने के लिए इंस्पेक्टर ने भाजपा के आईटी सेल के विधानसभा महमूदाबाद अध्यक्ष सुधीर वर्मा को काफी भला बुरा कहा और दोबारा ऐसी सूचना न देने की बात कहते हुए मुंह न खोलने की धमकी भी दी। तेंदुए के न पकड़े जाने से क्षेत्र के लोगों में भारी दहशत है। तेंदुए को पकड़ने में नाकाम वन विभाग लोगों को बच्चों के साथ बड़ों को भी अकेले खाली हाथ खेतों में न जाने की हिदायत देकर अपने कर्तव्यों की इतिश्री करने में जुटा है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper