भारत सरकार के नोडल अधिकारियों ने जिले के अधिकारियों के साथ की बैठक

बहराइच। पंचायती राज संस्थाओं को सुदृढ़ करने एवं सामाजिक समरसता को बढ़ावा देने, ग्रामीण गरीब परिवारों तक पहुॅच बढ़ाने, क्रियान्वित कार्यक्रमों पर आमजन की प्रतिक्रिया प्राप्त करने, नये प्रयासों को सम्मिलित करने, कृषकों की आय को दोगुना करने, आजीविका के अवसरों को बढ़ाने एवं स्वच्छता जैसे राष्ट्रीय प्राथमिकता के कार्यक्रमों पर पुनः विशेष ध्यान देने के उद्देश्य से जनपद बहराइच में 01 जून से 15 अगस्त 2018 तक संचालित किये जा रहे ‘‘ग्राम स्वराज अभियान’’ के द्वितीय चरण के लिए भारत सरकार द्वारा नामित नोडल अधिकारियों ने जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव की मौजूदगी में योजनावार नियुक्त प्रभारियों के साथ बैठक कर योजनाओं के प्रगति की समीक्षा की।
ग्राम स्वराज अभियान के द्वितीय चरण अन्तर्गत जनपद के चयनित 1031 ग्रामों को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (सभी पात्र परिवारों को एलपीजी कनेक्शन), सौभाग्य योजना (प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना), उजाला योजना (सभी के लिए सस्ती एलईडी द्वारा उन्नत ज्योति), प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, मिशन इन्द्रधनुष, स्टार्ट अप इण्डिया, स्टैण्ड अप इण्डिया, पेंशन योजना (पति की मृत्यु के उपरान्त निराश्रित महिला, वृद्धावस्था, दिव्यांगजन सशक्तीकरण आदि), प्रधानमंत्री आवास, पेयजल (हैण्डपम्पों का अधिष्ठापन एवं रिबोर), राशन कार्ड, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति हेतु शादी अनुदान योजना, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति हेतु निःशुल्क बोरिंग योजना तथा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से 15 अगस्त 2018 तक आच्छादित किया जायेगा।
उल्लेखनीय है कि ग्राम स्वराज अभियान अन्तर्गत संचालित कार्यक्रमों का जायज़ा लेने के लिए भारत सरकार की ओर से 04 सदस्यीय अधिकारियों का दल जनपद आया हुआ है। भारत सरकार की ओर से आये हुए 04 सदस्यीय दल में आर.के. स्वर्णकार निदेशक, गृह मंत्रालय, अजय कुमार सिंह अनु सचिव शिपिंग मंत्रालय, अशोक कुमार अनु. सचिव पर्यावरण एवं वन मंत्रालय तथा गिरीश चन्द्र ऐरन, निदेशक (फिल्म्स), सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार सम्मिलित हैं, जो क्रमशः विकास खण्ड कैसरगंज, जरवल, शिवपुर व बलहा में संचालित गतिविधियों का जायज़ा लेंगे।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि लक्षित योजनाओं से सभी पात्र लोगों को आच्छादित करने के उद्देश्य से सर्वे उपरान्त कार्य योजना तैयार कर लें। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि कार्ययोजना इस प्रकार से तैयार की जाय कि 15 अगस्त 2018 तक सभी चयनित 1031 ग्रामों को सेचूरेट कर लिया जाय। बैठक में मौजूद भारत सरकार के नोडल अधिकारियों ने सेक्टर अधिकारियों से विभिन्न योजनाओं की प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की और आवश्यक दिशा निर्देश दिये।
इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. ए.के. पाण्डेय, परियोजना निदेशक डीआरडीए अनिल कुमार सिंह, उपायुक्त एनआरएलएम लीड बैंक प्रबन्धक श्रवण कुमार, क्षेत्रीय आयुर्वेद एवं यूनानी अधिकारी डा. अशोक कुमार पाण्डेय, अधि.अभि. विद्युत नानपारा सुनील कुमार, कैसरगंज के वेंकटरमन, जिला पूर्ति अधिकारी राकेश कुमार, डीपीएम एनएचएम डा. आर.बी. यादव, खण्ड विकास अधिकारी शिवपुर आर.डी. सिंह, बलहा के शोभा राम मिश्रा सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper