सिजेरियन डिलीवरी के बाद रखें खास ख्याल

सिजेरियन डिलीवरी इन दिनों आम होती जा रही है। महिलाएं दर्द न सहने की वजह से नार्मल की बजाए सिजेरियन तकनीक की मदद से बच्चे को जन्म दे रही हैं। हालांकि कई बार डिलीवरी में कॉम्प्लिकेशन की वजह से भी सिजेरियन तकनीक का सहारा लेना पड़ता है लेकिन सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला को अपने स्वास्थय का खास ख्याल रखना पड़ता है। डॉक्टर तो सिजेरियन प्रसव के बाद 2 महीने के लिए बिस्तर पर आराम करने की सलाह देते हैं। ऐसे बहुत से काम हैं जो उसे करने चाहिए और कुछ कामों से उसे परहेज करने की जरूरत होती है।

आज हम आपको बताते हैं कि सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या करना चाहिए और क्या नहीं

-सिजेरियन के बाद घावों और ड्रैसिंग का खास ध्यान रखना पड़ता है। टांकें और घाव ताजे होते हैं। इसलिए इंफैक्शन से बचने के लिए कुछ दिन स्नान करने से परहेज करें। तंग, चुभने वाले और रेशमी कपड़े न पहनें। सूती कपड़े ही पहनें। अगर टांकों पर पानी पड़ भी जाएं तो सूती कपड़ों से उसे हल्के हाथों से पोंछ दें। डाक्टरी सलाह के मुताबिक, टाइम टेबल पर ही ड्रैसिंग करें।

-सिजेरियन के बाद दर्द भी हो सकता है। आप डॉक्टरी सलाह लेकर पेनकिलर ले सकती हैं।

-ऑपरेशन के बाद एक दम से बैठ जाना सही नहीं है। हल्के से करवट लें। ऑपरेशन के 4-6 हफ्ते तक पेडु पर खिंचाव घातक साबित हो सकता है। कुछ दिनों के लिए थोड़ा-थोड़ा और धीरे-धीरे करके चलना शुरू करें।

– सर्जरी के बाद शरीर काफी शुरूआत के दिनों में हल्‍का और स्वास्थयवर्धक भोजन लें। ज्‍यादा भारी और कार्बोनेटेड फूड खाने से बचें, संतुलित आहार जल्दी रिकविरी करने में मददगार साबित होते हैं। महिला को विटामिन सी से भरपूर आहार लेने चाहिए। ब्रोकली, पालक, साग, हरी मटर, संतरा, पीच, बेर, मौसम्‍मी खुबानी आदि में खूब सारा विटामिन सी पाया जाता लेकिन तेज मसालों से लगभग एक माह दूर रहना चाहिए।

– ब्रेस्ट फीडिंग जरूर करवाएं क्योंकि स्तनपान करवाने से गर्भाश्य को सही स्थिति में आने में सहायता मिलती है। पहली बार स्तनपान करवाते समय नर्स की मदद लें।

– ऑपरेशन के बाद सिजेरियन बेल्ट का इस्तेमाल करें। पहले पहल आपको बेल्ट लगाने में थोड़ी दिक्कत होगी लेकिन इसके आपको बहुत सारे फायदे भी होंगे।

– सिजेरियन के बाद महिला की बॉडी शेप बिगड़ जाती है लेकिन इसमें परेशान होने वाली बात नहीं है। शुरुआत में हल्की एक्सरसाइज करें और बाज में जिम ज्वाइन कर लें। इससे आपकी बॉडी वापिस शेप में आ जाएगी।

इन चीजों से रहें दूर

सिजेरियन ऑपरेशन के बाद महिला को ठीक होने में लगभग 6 माह का समय लग जाता है। इस अवधि के दौरान महिला को कुछ कामों से परहेज करना चाहिए।

– भारी-वजनी सामान न उठाना।
-स्ट्रैस से दूर रहें।
-पैरों के बल और झुककर काम न करें।
– आपसी संबंधों में परहेज रखें।

पहले सिजेरियन के बाद हो सकती हैं नॉर्मल डिलीवरी

वैसे नार्मल प्रसव हर स्थिति में बेहतर माना जाता है क्योंकि नॉर्मल डिलीवरी में मां और बच्चे दोनों को ही आराम रहता है। वहीं महिला आराम और व्यायाम की मदद से
6 हफ्तों के भीतर सामान्य हो जाती हैं जबकि सिजेरियन महिला को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। बहुत सारे लोगों यह मान कर चलते हैं कि अगर पहला बच्चा सिजेरियन हुआ हैं तो दूसरा भी सिजेरियन डिलीवरी से ही होगा ऐसा नहीं है।

डाक्टरों के अनुसार, सीजेरियन के बाद नॉर्मल डिलीवरी हो सकती हैं। यह मरीज की स्थिति और निर्णय पर निर्भर करता है। सिजेरियन के बाद अगर दूसरा बच्चा नॉर्मल हुआ हो तो महिला जितनी बार चाहे गर्भधारण कर सकती है।

सिजेरियन के बाद नॉर्मल डिलीवरी में जरूरी हैं ये बातें

-सिजेरियन के बाद कोई इंफैक्शन न रहा हो।

– बच्चे की पोजिशन सहीं हो

– बच्चे का वजन ज्यादा न हो।

– पहली प्रैग्नेंसी से जुड़ी कोई जटिलता न हो।

-पहले सिजेरियन के बाद कोई मैडीकल हिस्ट्री न हो।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper