गुजरात में चुनावी तूफान: हार्दिक के कारण गुजरात में बन सकती है कांग्रेस की सरकार

दिनेश जाला
अहमदाबाद (गुजरात)। ओखी साइक्लोन के बाद फिरसे गुजरात में चुनावी तूफान शरू हो गया है और गुजरात में लंबे समय बाद बीजेपी और कोंग्रेस के बिच काटे की टक्कर होगी।इस साल का चुनाव कुछ ख़ास होनेवाला है और इन दोनों पक्षों के बिच हार्दिक पटेल भी अपने आरक्षण की जिद लड़ाए बैठा है हार्दिक का सीधा असर चुनाव में पड़नेवाला है। चुनाव से पहले बीजेपी के कही उमेदवार कोंग्रेस में शामिल हुए थे जिनके कारण बीजेपी को काफी झटका लगा उसके बाद कोंग्रेस के भी कही उमेदवार बीजेपी में शामिल हो गए थे।लेकिन इनसे दोनों पार्टिओ को खास फर्क नही पड़ा सिर्फ हार्दिक पटेल का मुद्देने बीजेपी के नाक में दम कर रखा है हार्दिक का कहना है की वह किसी भी पक्ष में नही है बल्कि पटेल समुदाय की जो मांगे है वो पूरी करदे हार्दिक शरुआती समय में आरक्षण को लेकर आंदोलन किया और पूरा गुजरात हिला कर रख दिया था।अब वही आंदोलन कोंग्रेस को काफी काम आ रहा है क्योकि कुछ दिनों पहले राहुल गांधीने यह वादा करदिया की अगर कोंग्रेस की सरकार बनेगी तो पतिदारो को उनके हक जरूर मिलेगे।यह बात से खुस होकर हार्दिक ने सूरत में जनसभा की जिसमे हार्दिक ने कहा की २२ साल से बीजेपी की सरकार है पाटीदार युवा के आलावा और भी जाती के युवाओ को रोजगार नही मिला और बीजेपी वाले विकार की बाते करते है वो सिर्फ नाम का विकास है सूरत में हॉस्पिटल स्कुल बने है वो केसुबापा की सरकार में बनी है बीजेपी ने एक भी नई स्कुल या हॉस्पिटल बनाये हो या रोजगार दिलाये हो तो बताये। हमे इस बार सब ध्यान में रखना है हमरा हक हमे मिलना चाहिए युवाओ को रोजगारी मिलनी चाहिए और उसके लिए चुनाव में क्या करना है वो आप सबको पता है।इस भाषण में साफ़ पता चला रहा है की कोंग्रेस की सरकार बनानेका सीधा ईसारा हार्दिक पटेल का था।

गुजरात विधानसभा चुनाव के महा संग्राम के बिच आम आदमी पार्टी कही चर्चे में आना नही चाहती हो सकता है दोनों पक्ष की लड़ाई में तीसरा बाजी मार जाए।बीजेपी और कोंग्रेस दोनों जमकर प्रचार कर रहे है दूसरी और आम आदमी पार्टी भी सहलाई से काम ले रही है

चुनावी प्रचार में कही पक्ष वादा करने से पहले यह भूल जाते है की लोगो को दिया हुआ वादा पूरा होगा या नही और यह भूल जाते है की अंदाजीत गुजरात पर 2 लाख 41 हजार करोड़ का कर्ज है और इनके बिच टोच के हर नेता लोगो को जूठे वायदे करदेते है यह भी नही सोचते की उनका दिया हुआ वायदा पूरा होगा की नही राहुल गांधी ने पाटीदार के मुद्दे को अपना सहारा बनाया और उनके मांगे पूरी करने का लोगो को कुछ दिन पहले ही लोलोपोप दिया और कहा किशान का कर्ज माफ़ किया जायेगा और पाटीदार समेत पछात वर्गों के लोगो को कमीशन रचकर फायदा मिलेगा। ऐसे कही मुद्दे को हल करने का राहुल गांधी ने वायदा किया है और हार्दिक पटेल भी बीजेपी को जडसे उखाड़ने की जिद पर हर गाव और शहर में अपनी सभाओ से लोगो को जागृत कर रहे है सायद कोंग्रेस का दिया गया लोलीपोप के जरिये हार्दिक के कारण गुजरात में बन सकती है कोंग्रेस की सरकार।

कोंग्रेस ओखी साइक्लोन की तरह है माहोल बनाती है आती नही है: मोदी

ओखी तूफान के कारण कही टोच के नेताओ की सभा रद हुए थी। उसके बाद गुजरात के धंधुका में पीएम मोदी की सभा हुए जिसमे पीएम मोदीने गुजरात की आफत के जरिए कॉग्रेस पर सीधा निशान साधा और कहा कोंग्रेस को बाबा साहेब अम्बेडकर को भारत रत्न देना शोभता नही था। और कोंग्रेस ने सरदार पटेल के साथ नही बल्कि बाबा साहेब अम्बेडकर के साथ अन्याय किया है। और मोदी ने कहा की कोंग्रेस राम मंदिर को क्योंकि लटकाना चाहते है। ऐसे कही मुद्दे पीएम मोदी ने उठाये और जमकर कोंग्रेस पर वार किया।और आगे कहा कोंग्रेस महत्वपूर्ण मुद्दे को लटकाकर राजकारण कर रही है इनसे देश की दुर्दशा हुए है

हार्दिक पटेल
गुजरात के अमरेली में देर रात हुए हार्दिक पटेल की सभा में हार्दिक पटेल ने किया सबसे बड़ा धमाका:हार्दिक ने अमरेली की बैठक के उमेदवार परेश धनाणी को कोंग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उमेदवार घोषित करने पर राजकारण में हुआ सबसे बड़ा धमाका। हार्दिक की हर सभा में उनका प्रयास यह रहता है की जिसी भी हाल में बीजेपी की सरकार गुजरात में दुबारा नही बननी चाहिए जिनके कारन वह एक के बाद एक धमाका कर रहा है।हार्दिक ने कहा कोंग्रेस जीतेगी तो परेश धनाणी गुजरात के सीएम होंगे इस बात से दोनों पक्षों को झटका फिरसे लगा है

=>
loading...
E-Paper