शिवपाल का दावा, उनके साथ कई सपा विधायकों ने कोविन्द को दिया वोट

लखनऊ । उत्तर प्रदेश विधानसभा में राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ओर से एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविन्द की जीत का दावाकिया गया। वहीं इस चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) एक बार फिर दो धड़ों में बंटी नजर आयी। शिवपाल यादव ने पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को खुली चुनौती देते हुए रामनाथ कोविन्द को वोट देने की जानकारी दी।

 

सोमवार को राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग सुबह 10 बजे से शुरू हो गई। इसके बाद एक-एक कर माननीयों ने अपने वोट डाले। अभी तक 350 से अधिक वोट पड़ चुके हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपना वोट डालने के बाद कहा कि रामनाथ कोविन्द बहुमत से जीतेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके सहयोगी दल एक दूसरे की टांग खींचते हैं। अच्छा होता कि सभी विपक्षी दल एकसाथ एकमत एकस्वर में रामनाथ जी को वोट देकर जिता दें। वहीं ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने कहा कि प्रचण्ड बहुमत से रामनाथ कोविन्द देश के राष्ट्रपति बनने जा रहे हैं। चुनाव के पहले हमने सभी से कोविन्द के पक्ष में वोट देने का आग्रह किया था। स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने कहा कि रामनाथ कोविन्द को एनडीए से बाहर का भी समर्थन मिल रहा है। गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कोविन्द को बधाई देते हुये कहा कि यूपी के साथ पूरे देशवासियों को खुशी है कि किसान, गरीब और दलित का बेटा देश का राष्ट्रपति बनने जा रहा है।

विधि, न्याय, सूचना तथा युवा व खेल राज्य मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने कहा कि रामनाथ कोविन्द को करीब 70 फीसद मत मिलेंगे। कई विधायक अपनी अंतरात्मा की आवाज पर दल से ऊपर उठकर मतदान करेंगे। वहीं बाहुबली व मऊ से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के विधायक मुख्तार अंसारी ने कहा कि यह विचारधारा की लड़ाई है, मुझे नहीं लगता कि क्रॉस वोटिंग होगी। मैं मीरा कुमार के विजय के प्रति आश्वस्त हूं। जबकि इलाहाबाद उत्तरी से युवा विधायक हर्षवर्धन वाजपेयी ने कहा कि मैं मीरा कुमार को मतदान करना चाहता था, लेकिन भाजपा से विधायक होने के कारण मैने रामनाथ कोविन्द को मतदान किया।

शिवपाल ने कहा कि मैनें अंतरात्मा की आवाज पर रामनाथ कोविन्द को वोट दिया। उन्होंने कहा कि मैंने हमेशा नेताजी का कहना माना है, नेताजी की भी यही इच्छा थी। हमारे अलावा पार्टी के कई अन्य विधायकों ने भी कोविन्द को वोट दिया। कोविन्द सेक्युलर उम्मीदवार होने के साथ-साथ पिछड़ी जाति के हैं, हमारे परिचित हैं, हमारे पड़ोसी भी हैं, उनकी विजय सुनिश्चित है। पार्टी ने मेरी कोई राय नहीं ली तो मैं क्यों मानूं। वहीं पार्टी विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चौधरी ने शिवपाल के बयान पर प्रतिक्रिया में कहा कि कहना और वोट देना दोनों अलग-अलग बात है। शिवपाल ने भी मीरा कुमार के लिए मतदान किया होगा।

=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

E-Paper