सचिवों और प्रधानों का गठजोड़ अनियमितताओं को छुपाने के प्रयास में

सचिवों और प्रधानों का गठजोड़ अनियमितताओं को छुपाने के प्रयास में
रंग लाएंगे डीपीआरओ सुनील पांडे के कड़े तेवर*
104 पंचायत सचिव उनकी रडार में
हरदोई ।19 सितम्बर ग्राम पंचायतों में विकास कार्यों पर खर्च होने वाले बजट की निगरानी रखने के लिए पूर्व में प्रिया सॉफ्टवेयर लांच किया गया था, जिसमें स्पष्ट निर्देश किए गए थे कि ग्राम पंचायतों में होने वाले खर्च का पूरा ब्यौरा वाउचर सहित दर्ज किए जाएं, पर ग्राम पंचायत सचिव और प्रधानों के गठजोड़ ने अनियमितता को छुपाने के नजरिया से अभी तक  नियमनुसार खर्च का ब्यौरा फीड नहीं किया है। डीपीआरओ सुनील पांडे ने 7 दिन में फीडिंग की रिपोर्ट ना मिलने पर सचिवों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज किए जाने की चेतावनी दी है यह चेतावनी 104 सचिवों को दी है ।
मालूम हो कि जिले में 1308 ग्राम पंचायतों में से 419 ग्राम पंचायतों का प्रिया सॉफ्टवेयर पर ब्यौरा फीड नहीं कराया गया है इन गावों का कार्यभार संभाल रहे 104 ग्राम सचिवों को कई बार इसके लिए निर्देशित किया गया है। फिर भी इन सचिवों ने फीडिंग कार्य में गंभीरता नहीं दिखाई है ।अहिरोरी की 39, बावन की 20, बेहदर की 16, भरावन की 16, भरखनी की 41, बिलग्राम की 22, हरियावां की 22, हरपालपुर की 15, कछौना की 5, को थावां की 2, माधौगंज की 17 ,मल्लावा की 9, पिहानी की 54, सांडी की 29, शाहाबाद की 58, सुरसा की 15, टोडरपुर की 39 ग्राम पंचायतों में से प्रिया सॉफ्टवेयर की फिटिंग का कार्य पूरा नहीं किया गया है।
=>
loading...
E-Paper