‘प्रद्युम्न’ की मौत का नया खुलासा…जाने कौनसा

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में जिस सात वर्षीय बच्चे की हत्या की गई उसके पोस्टमार्टम से पता चला है कि उस पर यौन हमला नहीं किया गया और ज्यादा खून बहने से उसकी मौत हुई।

पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर दीपक माथुर ने कहा कि बच्चे के शरीर पर कट के दो निशान थे और नस काटी गई थी जिस वजह से वह मदद के लिए चिल्ला नहीं सका। पोस्टमार्टम रिपोर्ट जिला आयुक्त विनय प्रताप सिंह को रिपोर्ट सौंप दी गई है।

सिंह ने बताया कि स्कूल की तरफ से कई खामियों का पता चला है। मसलन, खिड़की टूटी हुई थी, कंडक्टरों और ड्राइवरों का पुलिस सत्यापन नहीं किया गया था। उधर, पुलिस ने बच्चे के दो सहपाठियों के बयान रिकॉर्ड किए हैं।

इस बीच सुभाष गर्ग नाम के एक कारोबारी ने दावा किया कि मैंने देखा कि अशोक कुमार (कंडक्टर) घायल बच्चे को लेकर जा रहा था और दो शिक्षिकाएं एवं दो छात्र उनके पीछे-पीछे चल रहे थे।

हत्यारोपी अशोक को पुलिस ने मंगलवार को कड़ी सुरक्षा में सोहना उपमंडल न्यायिक परिसर स्थित मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया। आरोपी के गुनाह कबूलने पर अदालत ने उसे 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भोंडसी जेल भेजने के निर्देश दिए।

अब इस मामले की अगली सुनवाई 18 सितम्बर को पास्को मामलों की सुनवाई के लिए बनाई गई स्पेशल अदालत में होगी।
प्रद्युम्न

हरियाणा पुलिस के दो अधिकारियों ने इस मामले में यहां कांदिवली स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल में स्टाफ से पूछताछ की।

पुलिस उपायुक्त (12) विनय राठौड़ ने बताया कि हरियाणा पुलिस के दो अधिकारी रेयान इंटरनेशन स्कूल के परिसर में हैं। इन दो अधिकारियों में से एक अधिकारी निरीक्षक रैंक का है।

बंबई उच्च न्यायालय ने रेयान इंटरनेशनल समूह के संस्थापक अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक को गिरफ्तारी से बुधवार तक के लिए राहत दे दी।

रेयान इंटरनेशनल समूह के संस्थापक अध्यक्ष ऑगस्टिन पिंटो (73) और समूह की प्रबंध निदेशक तथा उनकी पत्नी ग्रेस पिंटो (62) ने गिरफ्तारी के अंदेशे पर सोमवार को बंबई उच्च न्यायालय से अग्रिम जमानत का अनुरोध किया था।

=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

E-Paper