नही मिल सकी पूजा तो पहुंचा दिया भगवान के पास, खुद को भी किया घायल

अम्बेडकरनगर। एक तरफा प्यार में पागल प्रेमी ने एक निजी अस्पताल के कमरे में बन्द कर प्रेमिका की चाकुओं से बुरी तरह गोदकर उसकी हत्या कर दी और खुद पर भी चाकुओं से वार कर घायल कर लिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार तहसील टांडा के सकरावल मुहल्ले में खैरूल्निशा निजी अस्पताल स्थित है जो सरकारी और गैर सरकारी डाक्टरों के देखरेख में फल फूल रहा था। मक्की नामक व्यक्ति इस नर्सिग होम का प्रबंधन कार्य कर रहा है। जिसमें बाहरी डाक्टरों के द्वारा मरीजों का इलाज किया जाता था। इस तरह से यहां पर कार्य करने वाले कर्मचारियों में पूजा पुत्री राधेश्याम आयु लगभग २४ वर्ष निवासी मोहल्ला सकरावल, थाना कोतवाली टांडा और आलम पुत्र गुफरान आयु लगभग २३ वर्ष निवासी काजीपुरा थाना अलीगंज उक्त नर्सिग होम में काम करते थे।

एक तरफा प्रेम करने वाले युवक ने आज सुबह लगभग १० बजे के आसपास एक कमरे में बन्द कर चाकुओं से उसके शरीर को गोंद डाला। शोर सुनकर अस्पताल के कर्मी कमरे की तरफ दौड़े। तो दरवाजा अन्दर से बन्द होने से समीप में शौचालय के दरवाजे से जाकर कमरे का दरवाजा तोड़ा गया। जहाँ फर्श पर दोनों का शरीर पड़ा हुआ था। अस्पताल के कर्मचारी अपने निजी वाहन से दोनों को इलाज के लिए मेडिकल कालेज ले गये जहाँ पर मेडिकल कालेज के डाक्टर ने लड़की को मृत घोषित कर दिया और प्रेमी आलम को इमर्जेंसी वार्ड में भर्ती कर उसका घण्टों इलाज किया। परन्तु पुलिस केश होने के कारण कोतवाली टांडा की पुलिस एक घण्टा से अधिक समय हो जाने के बाद भी वहां नहीं पहुँची। केवल मेडिकल कालेज चौकी के कांस्टेबल नीरज कुमार होमगार्ड हिमायतुललाह ही मौके पर पहुंचे।

अपराह्न दो बजे के आसपास पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह, कोतवाल टांडा, मनोज कुमार पंत, अलीगंज थानाध्यक्ष राहुल कुमार अपने दलबल के साथ मेडिकल कालेज पंहुचे और इमर्जेंसी वार्ड में भर्ती प्रेमी आलम को पुलिस कर्मियों की देखरेख में जिला अस्पताल पहुंचाया गया। साथ में मृतक पूजा के शव को भी पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। उधर काम करने वाली पूजा के माता-पिता का रो रो कर बुरा हाल हो गया है।

टांडा के निजी अस्पताल खैरूलनिशा में काम करने वाले डॉक्टर और कर्मचारी किसी भी प्रकार की जबाबदेही से बचने के लिए घटना के कुछ क्षण के बाद ही फरार हो गए। यह प्रकरण किसी भी प्रकार का कोई विकराल रूप न ले ले प्रशासन ने इसके लिए अस्पताल पर थाना अलीगंज और कोतवाली टांडा के पुलिसकर्मियों का पहरा लगा दिया है। क्योंकि मामला दो समुदाय के लोगों से जुड़ा होना बताया जा रहा है।

जानकारों के मुताबिक इस निजी अस्पताल में इसके पूर्व भी मरीजों और कर्मचारियों के बीच उपजे विवाद का प्रकरण प्रकाश में आया था। इस तरह से यहां पर इस तरह की घटना होना कोई नयी बात नहीं है। मृतका पूजा को क्या पता था कि उसका एकांगी प्रेमी उसकी चाकुओं से गोदकर उसे मौत की नींद सुला देगा।

=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

E-Paper