गोंडा में यातायात नियमों का पाठ पढ़ेंगे शिक्षक

गोंडा। उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में शिक्षकों को यातायात नियमों का पाठ पढ़ाया जाएगा। छात्रों की सुरक्षा को लेकर यह निर्णय लिया गया है। छात्रों को आवागमन की सुविधा मुहैया कराने वाले स्कूलों में एक अध्यापक को नोडल अधिकारी बनाया जाएगा जो वाहनों का प्रबंधन देखेंगे। परिवहन विभाग शिक्षकों को प्रशिक्षण देगा। जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआईओएस) ने विद्यालयों से एक-एक अध्यापक का नाम देने का निर्देश दिया है। जिससे जुलाई के अंत तक प्रशिक्षण दिया जा सके।
डीआइओएस राम खेलावन वर्मा के मुताबिक, जिले में 150 से अधिक स्कूल बच्चों को आवागमन का साधन मुहैया कराते हैं, लेकिन वाहन चालकों की जानकारी विभाग को नहीं होती है। चालक को विद्यालय प्रबंधन द्वारा समय-समय पर प्रशिक्षण भी नहीं दिया जाता है। जिससे दुघर्टनाओं की संभावना रहती है।
किसी प्रकार की दुर्घटना होने पर जिम्मेदारी तय करने में भी दिक्कत होती है। इसको लेकर विद्यालयों को वाहन संचालन के लिए एक अध्यापक को नोडल अधिकारी नामित करने का निर्देश दिया गया है। परिवहन विभाग को विद्यालय द्वारा नामित नोडल अधिकारी को प्रशिक्षण देने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। अध्यापकों को आरआई की तर्ज पर ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके अलावा विद्यालय में कार्यक्रम का आयोजन कर छात्रों को भी नियमों का पाठ पढ़ा सकें। उन्होंने बताया कि विद्यालयों को नोडल अधिकारी नामित करते हुए सूची देने का निर्देश दिया गया है।
सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी राजीव चतुर्वेदी के मुताबिक, शिक्षकों को वाहन चलाने का नियम, ब्रेक, लाइट, टायर, बैकलाइट सहित अन्य के विषय में बताया जाएगा। उन्हें समय पर फिटनेस न कराने या परमिट नियमों के उल्लघंन पर होने वाले जुर्माने की भी जानकारी दी जाएगी।

=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

E-Paper