गाजियाबाद पहुंचे योगी ने कैलाश मानसरोवर भवन की नींव रखी

नयी दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बृहस्पतिवार को गाजियाबाद में कैलाश मानसरोवर भवन की नींव रखी योगी ने CM बनने के बाद इसका ऐलान किया था। योगी आदित्यनाथ ने कहा मुझे यहां आने पर परिवर्तन दिखा।

मुझे यहां सफाई दिखी किसानों पर उन्होंने कहा कि नए भारत के निर्माण के लिए सबका योगदान जरूरी है पश्चिमी यूपी के किसानों ने सोना पैदा किया है आठ और 11 सितंबर को किसानों को लोन माफी सर्टिफिकेट दिए जाएगा पश्चिमी यूपी के हर जनपद में कैंप लगेंगे।

उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों का 93 फीसदी भुगतान किया गया योगी ने कहा कि कैलाश मानसरोवर यात्रा का भवन भारत की परंपरा से आपको जोड़ती है मथुरा सर्किट अयोध्या सर्किट और बौद्ध सर्किट का विकास किया जा रहा है।

यूपी में 12 से 15 करोड़ की कुंभ की भीड़ ये बताती है कि हमारे यहां पर्यटन की अपार संभावना है इसका मतलब मथुरा, अयोध्या और गढ़मुक्तेश्वर में भी लोग आ सकते है।

उन्होंने कहा कि कांवड यात्रा में चार करोड़ लोगों ने शांति से ये यात्रा पूरी की ये एक मिसाल है कि शांतिपूर्व तरीके से कैसे यात्रा होगी है। इन धर्मस्थलों को सामाजिक एकता का भी केंद्र बनना होगा योगी ने कहा कि खोड़ा के लिए कल ही 12 करोड़ रूपये दिए।

देश का सबसे बड़ा गांव था अब नगर पालिका है आज वर्किंग डे के बावजूद आप सब लोग नौकरी पेशा छोड़कर यहां आए है संकल्प से सिद्धी का मंत्र दिया गया अगले साल यात्रा शुरू होते समय मैं यहां उपस्थित होना चाहूंगा।

एक लाख रुपए की मदद का किया था वादा

आपको बता दें कि योगी जब सीएम बनने के बाद पहली बार गोरखपुर गए थे, उस दौरान उन्होंने इसका ऐलान किया था योगी ने इसी के साथ ही ऐलान किया था कि यूपी सरकार कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने वालों को एक-एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता देगी।

CM बोले थे कि यूपी का कोई नागरिक यदि कैलाश मानसरोवर जाना चाहता है और उसके लिए शारीरिक रूप से पूरी तरह सक्षम है तो यूपी सरकार उसे एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता देगी।

हज हाउस का जवाब है कैलाश मानसरोवर भवन?

योगी आदित्यनाथ ने जब कैलाश मानसरोवर भवन के निर्माण का ऐलान किया था तो ये सवाल कौंधने लगा कि क्या कैलाश मानसरोवर भवन अखिलेश सरकार द्वारा बनवाए गए भव्य हज हाउस का जवाब है।

हज हाउस गाजियाबाद में बना है और बीजेपी लगातार इसे मुस्लिम तुष्टिकरण बताती रही है।

=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

E-Paper