सीरियल रेपिस्ट हुआ गिरफ्तार, मासूम बच्च‍ियों को बनाता था शिकार

पटना। पटना में खौफ बने सीरियल रेपिस्ट को आखिरकार पुलिस ने अपनी गिरफ्त में ले लिया। पलंबर का काम करने वाला ये शख्स मासूम बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बनाता था। बीते कई महीनों से पटना में बच्चियों के इस सीरियल रेपिस्ट की दहशत थी, लेकिन अब ये घिनौना अपराधी सलाखों के पीछे है।

पुलिस को शिकायत मिल रही थी कि एक ऐसे शख्स के बारे में जो मासूम बच्चियों के साथ शर्मनाक हरकत करता था। बच्चियों में खौफ इस कदर हो गया था कि वो घर से निकलती तक नही थीं, लेकिन वो जल्लाद पकड़ में नही आ रहा था। पुलिस ने स्थानीय लोगों से अपने घरों के आसपास सीसीटीवी लगाने को कहा। गलियों में भी सीसीटीवी लगवाए गए और लगातार उनकी मोनिटरिंग की जाने लगी।

ये दैत्य घर के बाहर खेल रही अकेली मासूम बच्चियों को अपने झांसे में लेता था। उनसे कुछ देर बातें करता और बहला-फुसलाकर मल्लिक गली की एक खाली पड़े घर में ले जाता था। बच्चियों के चिल्लाने पर वो अपने हाथ से उनका मुंह दबाकर बुरी तरह बच्चियों की पिटाई करता था। इस दैत्य के डर के मारे बच्चियों ने स्कूल जाना तक छोड़ दिया था।

मल्लिक गली के जिस घर में उसने एक-एक कर सभी बच्चियों को शिकार बनाया। इसके खौफ के चलते एक दिन उस घर में भी सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए। इस जल्लाद को इस बात की भनक नहीं थी कि उसकी हरकतें सीसीटीवी में कैद हो रही हैं। इरशाद इतना शातिर था कि सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे के बीच ही अकेली बच्चियों को शिकार बनाता था, क्योंकि इस वक्त ज्यादातर मर्द काम पर निकल जाते थे और बच्चियां खेलने के लिए घर से बाहर निकलती थीं।

सुल्तानगंज का रहने वाला इरशाद पलम्बर का काम करता है। गिरफ़्तारी के बाद पूछताछ में उसने बताया कि वो अक्सर पोर्न फिल्म देखा करता था। पोर्न की लत ने ही उसे इस कदर जालिम बना दिया। इस जल्लाद के खिलाफ पुलिस ने पोस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

=>
loading...
=>
=>
E-Paper