मुश्किल में पाक के वजीर-ए-आजम, पढ़े पूरी खबर…

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ काफी मुश्किलों में फंस गए हैं। पनामा पेपर्स मामले की जांच के लिए गठित कमेटी जेआईटी को शरीफ के खिलाफ काफी सबूत मिले हैं। जिसके बाद उन पर इस्तीफा देने का दबाव बढ़ गया है।

शरीफ के लिए परेशानी का सबब यह है कि पनामा पेपर्स मामले के साथ साथ उनके खिलाफ खारिज किए गए 15 मुकदमें दोबारा शुरु किए जाने की मांग की गई है। ये मुकदमे शरीफ पर पीपीपी और मुशर्रफ सरकार के दौर में दर्ज किए गए थे। ऐसे में यदि इन मुकदमो की जांच शुरु होती है तो यह मुश्किलों से घिरे नवाज शरीफ के लिए यह बहुत बड़ा झटका होगा।

नवाज शरीफ के मामले पर पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट आज सुनवाई करेगा। माना जा रहा है कि कोर्ट नवाज के खिलाफ कोई कड़ा फैसला सुनाते हुए 15 मुकदमो की जांच दोबारा शुरु करने का आदेश दे सकती है। इसके बाद नवाज शरीफ के लिए प्रधानमंत्री पद पर बने रहना मुश्किल हो जाएगा। विभिन्न राजनैतिक पार्टियां तो अभी से नवाज से इस्तीफा देने की मांग कर रही हैं।

वहीं तहरीक-ए-इंसाफ के अध्यक्ष और नवाज शरीफ के धुर विरोधी इमरान खान का कहना है कि शरीफ को अब कोई नहीं बचा सकता। इमरान ने कहा कि नवाज यूएई, साऊदी से मदद की गुहार लगा रहे हैं। लेकिन अब उन्हें कोई नहीं बचा सकता।

loading...
=>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

E-Paper