अगर आप कुंवारी नहीं तो सुहागरात पर अपनाए ये तरीके, नहीं खुलेगी पोल

सुहागरात यह एक ऐसा शब्द है जिसको सुनकर लड़कियां शर्म से आॅखे चुरा लेती है लेकिन मन ही मन में अपनी सुहागरात के बारे में सोचा करती है लेकिन तमाम लड़कियों को सुहागरात से पहले एक डर सताता रहता है क्योकि वो शादी से पहले सेक्स संबन्ध बना चुकी होती है ऐसे में उनको पति के आगे पात खुदने का डर बना रहता है। लेकिन हम यहां पर आपको कुछ ऐसी बाते बता रहें है जिससे आप का यह डर खत्म हो जाएगा। और पति के आगे आपकी पोल भी नहीं खुलेगी।

 

लड़कियां जितना रोमांटिक अपनी शादी को लेकर होती हैं उतना किसी बात को लेकर नहीं। चाहे वो अपने होने वाले पति को पहले से जानती हों या ना जानती हों, उनके लिए शादी की एक-एक तैयारी बड़ी ही खास होती है। कपड़ों की तैयारी, बारात की रिसेप्शन, लेडीज संगीत, विदा की रस्म, हनीमून कहाँ होगा … शादी की हर बात की पहले से प्लानिंग होती है और लडकियां इन्हीं सब में खोयी रहती हैं। लेकिन सबसे ज्यादा लड़कियों को जिस बात का रोमांच और इंतज़ार रहता है, जो पल शादी तय होने के बाद से ही उनके दिलो-दिमाग पर छाया रहता है वह है सुहागरात का ख़याल। अपनी सहेलियों और भाभियों से सुहागरात की बातें सुन-सुन कर उनके मन एक रूमानी ख़याल अपना घर बन लेता है जिसमें प्यार के साथ साथ थोड़ा थोड़ा डर भी बन रहता है।

जब शादी का मुहूर्त घड़ी-घड़ी खिसकता हुआ पास चला आ रहा हो, तब मन की चिंताएं भारी होकर गर्म और तपती हुई सी महसूस होती हैं। एक तरफ़ जहां नया रिश्ता बनाने की बेसब्री होती है, तो वहीं दूसरी ओर कुछ बातें और परेशानियां दिमाग में कुलबुलाती सी भी महसूस होती हैं। वर्जनिटी (यानी कुंवारापन) भी ऐसा ही एक मुद्दा है। कुदरती तौर पर ऐसा कोई तरीका नहीं मौजूद है जो यह पहचान कर सके कि लड़का वर्जिन, यानी शारीरिक तौर पर कुंवारा है या कि नहीं। लेकिन लड़कियों के मामले में इस बात की पहचान के कई नुस्खे मौजूद हैं जिनसे पता लगाया जा सकता है कि लड़की कुंवारी है कि नहीं? । इनके बारे में सुनने का असर बेचारी लड़की पर यह होता है कि वह इसकी चिंता में शादी तय होने के बाद की अपनी कई रातों की नींद हराम कर लेती है।

खासकर वे लडकियां जिनके नादानी में या किसी के प्यार में पड़कर या कभी कभी किसी के द्वारा जबरदस्ती करने से शरीरीरिक सम्बन्ध शादी से पहले बन गए हों, उनके दिल में यह खडका सा हमेशा लगा रहता है कि क्या मेरा

पति मुझे स्वीकार करेगा? अगर मेरे पति को पता चल गया तो क्या होगा? आपको उसके सामने सबकुछ सच-सच बता देना चाहिए, या फिर छुपा लेना चाहिए? बताएं तो कैसे बताएं, और छुपाना चाहें तो कैसे छुपाएं? इस सबका आपकी शादीशुदा जिंदगी पर क्या और कैसा असर पड़ेगा, जैसी तमाम बातें हैं जो आपके परेशान कर सकती हैं। आज हम कोशिश करते हैं जानने की कि क्या शादी के पहले सेक्स करना, और अपनी वर्जिनिटी खोना आज के वक़्त में भी उतना ही बड़ा मुद्दा है जितना पहले हुआ करता था।

आज के चलन के मुताबिक शादी तय होने के बाद ही मुलाकातों का दौर शुरू हो जाता है। अरेंज्ड शादी अब कहने को ही अरेंज्ड रह गई है। असलियत यह है कि मां-बाप समझने लगे हैं कि उनके बेटे या फिर बेटी के लिए एक-दूसरे को जानना, और शादी से पहले ही अपनी आने वाली साझा जिंदगी के लिए एक किस्म की समझदारी तैयार करना बेहद अहम है। यही वजह है कि लड़के और लड़की को शादी तय होने के बाद एक-दूसरे से बात करने और मिलने-जुलने के मौके दिए जाते हैं। ज्यादातर तो इन मुलाकातों का असर यह होता है कि शादी अरेंज्ड होने के बावजूद दोनों एक-दूसरे से निहायत ही दोस्ताना बर्ताव करने लगते हैं। कई बार तो यह सबकुछ प्यार हो जाने के मुकाम तक पहुंच जाता है।

देखने में आया है कि ऐसे में दोनों एक-दूसरे के सामने अपने मन की गिरह खोल देते हैं। नई जिंदगी की बेहतरी के लिहाज़ से दोनों एक-दूसरे के सामने अपने अतीत से जुड़ी बातें साफगोई से रखते हैं। जब लड़के अपने बारे में, या अपने अतीत के प्रेम संबंधों के बारे में बात करते हैं तो यकीनन वे अपनी होने वाली जीवनसाथी से भी यह उम्मीद करते हैं वह भी अपना मन खोल दे। लड़कियों को ऐसे मौकों को भांपकर ईमानदार होने का फैसला करना चाहिए।

आज के समय में ज्यादातर दोनों ही को पता होता है कि हर किसी का एक अतीत हो सकता है। इसमें अस्वाभाविक जैसा कुछ नहीं। और अगर प्रेम में सेक्स की स्थिति बनी तो भी स्वाभाविक ही है। ऐसा इसलिए कि वे दोनों खुद अपने-अपने समय में यह सबकुछ महसूस कर चुके होते हैं। ज्यादातर लोग यह भी मानते हैं कि अतीत का बोझ लेकर चलना ना ही समझदारी है, और ना ही उनके खुद के रिश्ते की बेहतरी के लिहाज़ से ही अच्छा है।

कैजुअल सेक्स की बात छोड़ दें तो ज्यादातर मामलों में सेक्स तभी मुनासिब हो पाता है जब आप किसी इंसान से इतना प्यार करें कि उसके साथ अपना शरीर साझा करने से ज्यादा करीबी एहसास आपको कुछ और न लगे। हो सकता है कि उसी इंसान के साथ आप अपनी पूरी जिंदगी बिता दें, लेकिन यह भी हो सकता है कि किसी कारणवश आपका रिश्ता टूट जाए। इसका यह मतलब कतई नहीं कि आपको आगे बढ़ने या फिर से प्यार करने और शादी करने का कोई हक़ नहीं है। प्यार में होकर सेक्स करना और किसी को धोखा देने में बहुत अंतर है।

आजकल मेडिकल साइंस में इतनी तरक्की आ गई है कि आप चाहें तो एक छोटे ऑपरेशन से आपका कुदरती हाइमन फिर से तैयार किया जा सकता है। हाइमन वह झिल्लीनुमा परत होती है जो आमतौर पर पहली बार सेक्स करने के दौरान फट जाती है। यही कारण है कि लोक मान्यताओं में सुहागरात पर लड़की की योनि से रक्तस्त्राव होना उसकी पवित्रता और कुंवारेपन से जोड़कर देखा जाता है। हालांकि यह भी एक सच है कि जरूरी नहीं कि हाइमन सिर्फ सेक्स के समय पड़ने वाले दबाव के कारण ही टूटता है। अधिक भारी सामान उठाने, खेल-कूद के कारण, या फिर कई और किस्म की रोज़मर्रा के सामान्य काम करते हुए भी हाइमन के टूट जाने की संभावना रहती है। ऐसे में शादी की पहली रात अगर लड़की सच में भी कुंवारी है तब भी मान्य प्रचलन के कारण उसपर पहले से ही किसी के साथ सेक्स करने की इल्ज़ाम लग सकता है।

आज हम आपको बता रहे हैं ऐसे कुछ तरीके जिनको अपनाकर आप इस चिंता से मुक्ति पा सकते हैं। कमाल की बात यह है कि हमारे बताए तरीके बेहद आसान और मजेदार हैं। और अगर आप इन तरीकों को अमल में लाते हैं तो यकीनन आपको आपके जीवनसाथी से अवहेलना की जगह प्रशंसा मिलेगी।

खुद को अल्हड़ दिखाएं

हो सकता है कि आप बेहद अनुभवी हों। यह भी हो सकता है कि जो गुर आपके पास हैं वे बेहद खास हों। लेकिन सब्र रखिए। आपको अपनी ज्ञान दिखाने के तमाम और मौके मिलेंगे। अभी बेहतर होगा कि आप खुद को अल्हड़ और अनजान दिखाएं। उत्सुकता जरूर दिखनी चाहिए आपकी, लेकिन आपका अनुभव न ही दिखे तो बोहतर होगा।

अपने पार्टनर को भरपूर रिझाएं

कुछ ऐसा जादू कीजिए कि उसे आपकी खूबसूरती और अदा के अलावा कुछ और न दिखे। उसे इतना रिझाएं कि उसके पास किसी और बात को सोचने का मौका ही न हो। आपके पास पूरा मौका है अपने पार्टनर को अपनी अदाओं का दीवाना बना डालने का। कुछ ऐसा कमाल कीजिए कि वह आपपर लट्टू हो जाए।

फोरप्ले को गंभीरता से लें

सबकुछ जल्दी से हो गया तो उसके पास सोचने का बहुत सारा वक़्त होगा। आपकी योजना ऐसी होनी चाहिए कि फोरप्ले स्वाभाविक रूप से लंबा खिंचे। हमारा मकसद यह है कि वह आकर्षित और उत्तेजित होकर तड़प उठे। उसकी तड़प जितनी गहरी होगी, उतनी ही कामयाब होगी आपकी योजना। असर यह होगा कि आपका पार्टनर आपका दीवाना बन बैठेगा।

जानबूझ कर सबकुछ सही न करें

आपको साबित करना है कि आपको सेक्स के बारे में जितना भी आता है वह सब केवल सुना-सुनाया ज्ञान है। इसके लिए जरूरी है कि आप सही मुद्रा में अपने आप न आएं। इंतज़ार करें कि आपका पार्टनर आपको सही मुद्रा की जानकारी दे। आपको बस इतना करना है कि एक आज्ञाकारी स्टूडेंट की तरह अपने पार्टनर द्वारा दिए गए निर्देशों पर अमल करना है। क्या पता ऐसा करते-करते आप खुद से ही एक नई सेक्स की पोजीशन भी खोज डालें।

लाऊड होना मूड बनाएगा

शांत होकर, चुपके-चुपके सेक्स करने में क्या मज़ा? आपकी सुहागरात है, कोई मज़ाक तो है नहीं। हम आपको बता दें कि आवाज़ के बिना सेक्स बेमज़ा है। लोग मानते हैं कि पहली बार सेक्स करने पर दर्द होता है। माना कि उस दर्द को महसूस करने का आपका यह पहला मौका नहीं है, लेकिन फिर भी आप दर्द को महसूस करने का दिखावा तो कर ही सकती हैं। यकीन जानिए, ये आवाज़ें आपका और आपके पार्टनर का मूड बना देंगी।

अगर इनमें से कोई तरीका काम न आए

अगर आपकी इतनी मेहनत और तैयारियों के बाद भी आपका पार्टनर हाइमन-थ्योरी के पीछे पड़ा रहे (भगवान् ना करे कि आपको ऐसा बैकवर्ड सोच वाला पति मिले) तो बेहतर होगा कि आप उसको थोड़ा ज्ञान दीजिए। उससे बात कीजिए और उससे कहिए कि हाइमन सेक्स के अलावा और भी बहुत सी बातों से टूट सकता है। आज के जमाने में लोग इतने तो पढ़े-लिखे होते ही हैं कि जान सकें कि हाइमन तो तैरने जैसे मामूली काम से भी टूट सकता है।

हमें उम्मीद है कि हमारी सलाह आपकी परेशानियों को कम करने के साथ-साथ आपकी सुहागरात को भी खूबसूरत बनाएंगी। याद रखिए, प्यार करना और शादी से पहले सेक्स करने में कोई बुराई नहीं। बशर्ते आपको इस बात का एहसास हो कि जो बीत गया वह आपका अतीत था, और जो सामने है वह आपका वर्तमान भी है और भविष्य भी।

loading...
=>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

E-Paper